Tech खदान

Technology से जुड़ी जानकारी हिंदी में

Page और Post में क्या अंतर हैं। Blog पर कौन से Pages का होना जरुरी हैं।

स्वागत हैं आपका मेरी Blogger Hindi Series में , आज मैं बात करूँगा की आप किन pages को अपने ब्लॉग पर बना सकते हैं और ये पोस्ट से अलग क्यों हैं।

दरसल जब हम कोई Blog बनाते है तोह उस पर पोस्ट डालते हैं अपने विषय और interest के अनुसार लेकिन हमे साथ ही कुछ pages को भी डालना चाहिए अपने ब्लॉग पर ताकि लोग आपके ब्लॉग को और अच्छे से जान सके की आप यहाँ किस तरह का content शेयर करे हैं आप अपने या अपनी team के बारे में भी एक पेज बना सकते हैं। अगर हम बात करे पोस्ट और पेज के बारे में तोह पोस्ट वो होता है जिसे आप regular update करते हैं चाहे फिर वो किसी भी विषय पर क्यों न हो जैसे की न्यूज़ , कहानियाँ , यात्रा या फिर जो आप चाहे मैं यहाँ टेक्नोलॉजी पर बात करता हु तोह मेरे लिए यही पोस्ट का कंटेंट होता हैं।

लेकिन pages को आपको एक बार ही बनाना होता हैं ये आप पर हैं की आप कौन से pages को अपने ब्लॉग पर जगह देना चाहते हैं , अक्सर Pages आपकेब्लॉग पर menu का हिस्सा होते हैं जैसे की एक साधारण ब्लॉग पर आप कुछ इस तरह के pages बना सकते हैं जो की Blogger की मदद से बनाना बहुत ही आसान हैं चलिए देखत है कैसे –

  • About Us – हमारे बारे में।
  • Contact Us – हमसे जुड़े।
  • Topics of Blogging – ब्लॉग्गिंग के विषय।
  • Popular Posts – लोकप्रिय पोस्ट।
  • Services – सेवाएँ (यदि आप किसी तरह की सर्विसेज भी देते हैं अपने ब्लॉग रीडर्स को )

यह तोह थे सामान्य तोर पर किसी भी ब्लॉग पर मिलने वाले pages मेरे हिसाब से अगर आप चाहे तोह इनमे अपने अनुसार pages को बड़ा या घटा सकते हैं लेकिन कोशिश करे की कम से कम pages रखे वरना आपका menu कुछ ज्यादा ही लम्बा हो जायेगा मेरे हिसाब से एक ब्लॉग पर maximum आपको 10 pages का इस्तेमाल करना चाहिए इसके ज्यादा भी करोगे तोह कोई रोकने नहीं वाला तुम्हे। इस ब्लॉग पर भी आप pages को ऊपर menu में देख सकते है।

Blogger पर Page create करना

जब आप ब्लॉगर पर जायेगे तोह देखेंगे की पोस्ट और पेज बनाना लगभग एक जैसा ही होता हैं बस एक अंतर होता हैं यहाँ आपको post features जैसे की label , customise permalink , location और publish on जैसे फीचर्स नहीं मिलते जिनके बारे में मैंने यहाँ इस पोस्ट में डिटेल में बात की है आप देख सकते हैं-

Blogger Screen for Creating Page
Create Page View

जिस तरह से पोस्ट में title दिया जाता हैं यहाँ आपको पेज को title देना होता हैं ऊपर दिए गए pages में से कोई भी ले सकते है उदाहरण के तोर पर

अगर आप About Us लिख रहे तोह आपको अपने ब्लॉग के बारे मैं एक detail introduction देना होता हैं की आपका इस ब्लॉग को बनाने का मकसद क्या हैं यहाँ पर आप किस तरह का content share करते हैं उदाहरण के तोर पर आप इस वेबसाइट के About page को देख सकते हैं।

अगर आप Contact Us लिख रहे तोह आप अपने रीडर्स के लिए एक जरिया छोड़ सकते हैं आपसे संपर्क करने के लिए जैसे की आप अपने social media links और या फिर e-mail जो भी आप चाहे कोशिश करे अपने रीडर्स को आपके Social Media Pages तक पहुंचने की ताकि वहां से वो regular Blog पोस्ट visit कर सके।

Blogger पर left साइड menu से आप Pages पर क्लिक करके आसानी से create page स्क्रीन पर जा सकते हैं नीचे देख भी सकते हैं कुछ इस तरह से होता हैं।

Click to Know More Blog Post Features

यहाँ page options के तोर पर एक भी विकल्प होता है की आप चाहे तोह आप रीडर्स के लिए पेज पर comments ऑफ कर सकते हैं ताकि कोई भी आपके पेज पर कोई भी comment न कर सके , यह same option आपको post features में भी मिलता हैं। जो कुछ आप एक पोस्ट में add करते हैं वो सब यहाँ भी कर सकते हैं जैसे की text , images , videos , list , और links वगेरा ऊपर दिए गए Blogger Text Editor पर। ये बहुत ही आसान हैं इस्तेमाल करने में आप खुद अनुभव कर सकते हैं।

Search Engines में Pages की importance

अगर आप अपने Blog पर pages का इस्तेमाल करते हैं तोह search engine like Google आसानी से आपके ब्लॉग pages को separate दिखाता हैं जो search results में आपके ब्लॉग की category decide करने में मददगार होता हैं अच्छे pages से एक अच्छा menu और navigation बनता हैं जैसे की आपके popular post या recent पोस्ट को लेकर।

Google Search results for microsoft pages
Google Results

ऊपर आप google search में microsoft को लेकर रिजल्ट्स देख सकते हैं यहाँ पर main वेबसाइट रिजल्ट के नीचे उस वेबसाइट पर मौजूद pages को देख सकते हैं। कई हद्द तक आपकी वेबसाइट की रिजल्ट्स और रैंकिंग को प्रभावित करते हैं पर कोई निश्चित पैमाना नहीं होता ऐसे चेक करने का , तोह आप अपनी तरफ से कोशिश कीजिये बाकि search engine crawler और indexing पर निर्भर होता हैं की वो किस तरह से आपकी website या blog results को प्रदर्शित करते हैं।

Hariom singh

Web Developer/ Programmer, Technology Blogger and YouTuber as well as a M.C.A (Hons) Post Graduate.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top